Tuesday, December 4, 2018

RSCIT Book Lesson- 6. (Internet Application "इंटरनेट के अनुप्रयोग") Notes In Hindi 2019.

RSCIT Book Lesson- 6. (Internet Application "इंटरनेट के अनुप्रयोग") Notes In Hindi 2019 :- We Are Share Notes of RSCIT Official Book Lesson No. 6. In Hindi Language, So Read and Get High Marks In RSCIT Exam.

Rscit Book Lesson | Rscit Book Lesson Notes | Rscit Book Lesson Notes Number 6 | Rscit Book Lesson Notes Number 6 In Hindi | Notes Of Rscit Book In Hindi | Rkcl New Book Notes In Hindi Lesson 6 | Rscit New Book Notes In Hindi Lesson | Notes Of Rscit Book Lesson 6 | Download Rscit Notes | Rscit Book Notes In Hindi Pdf | Lesson -6 | Part- 1 And 2.

Rscit Book Lesson,Rscit Book Lesson Notes,Rscit Book Lesson Notes Number 6,Rscit Book Lesson Notes Number 6 In Hindi,Notes Of Rscit Book In Hindi,Rkcl New Book Notes In Hindi Lesson 6,Rscit New Book Notes In Hindi Lesson,Notes Of Rscit Book Lesson 6,Download Rscit Notes,Rscit Book Notes In Hindi Pdf,Lesson -6,Part- 1 And 2.
RSCIT Book Lesson- 6. (Internet Application "इंटरनेट के अनुप्रयोग") Notes In Hindi 2019.
इस अध्याय में हम इंटरनेट में इंटरनेट के कुछ महत्वपूर्ण अनुप्रयोगों का अध्ययन करेंगे एवं उन्हें समझने की कोशिश करेंगे।

नोट :- अगर आप इस RSCIT Notes को वीडियो के माध्यम से समझना चाहते हैं, तो हमने इस पोस्ट के बिल्कुल अंत में आपके लिए एक अच्छा सा वीडियो भी जोड़ा है। तो अगर आपको वीडियो देख कर पढ़ना आसान लगता है, तो कृपया करके आप वीडियो को इस पोस्ट के बिल्कुल अंत में जाकर देख सकते हैं।

Internet Application (इंटरनेट के अनुप्रयोग)

इंटरनेट हमे बहुत सारी ऑनलाइन सेवाएं प्रदान करता है। जैसे ऑनलाइन कुछ खरीदना या फिर बेचना, ईमेल ब्लॉगिंग, शॉपिंग ,मनोरंजन इत्यादि।

ई-कॉमर्स : ई-कॉमर्स इसका पूरा नाम इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स होता है। इसके माध्यम से हम ऑनलाइन उत्पादों की खरीदारी एवं बिक्री कर सकते हैं। एक पारंपरिक खुदरा के मुकाबले यह ऑनलाइन खुदरा 24 घंटे उपलब्ध होता है। इसके लिए हमें किसी जगह को खरीदना नहीं पड़ता इसमें पूरा काम ऑनलाइन होता है। और इसकी पहुंच का दायरा बहुत बड़ा होता है।

ई-कॉमर्स के कुछ प्रकार निम्नलिखित हैं -

व्यापार से उपभोक्ता (Business to Consumer) (B2C) : इसमें एक कंपनी के द्वारा ग्राहकों को सामान बेचा जाता है।
इसके कुछ प्रमुख उदाहरण है - Amazon.com, Flipkart.com, Snapdeal.com इत्यादि।

व्यापार से व्यापार (Business to Business) (B2B) : इसमें किसी कंपनी के द्वारा किसी उपभोक्ता को सामान नहीं बेचा जाता बल्कि, किसी दूसरी कंपनी को सामान बेचा जाता है।
इसके कुछ उदाहरण हैं -  India.alibaba.comAmazonbusiness.in

उपभोक्ता से व्यापार (Consumer to Business) (C2B) : इस स्थिति में उपभोक्ता अपने सामान की ऑनलाइन बोली लगाता है अर्थात अपने सामान को ऑनलाइन पोस्ट करता है। तथा उस सामान को किसी कंपनी के द्वारा खरीदा जाता है।
इसका उदाहरण - thefreemortgagecalculator.com

उपभोक्ता से उपभोक्ता (Consumer to Consumer) (C2C) : इसमें उपभोक्ता के द्वारा ऑनलाइन किसी अन्य उपभोक्ताओं को अपना सामान बेचा जाता है।
इसका एक बहुत लोकप्रिय उदाहरण है - ebay.in

मोबाइल कॉमर्स (M-Commerce) : मोबाइल स्मार्टफोन और व्यक्तिगत सहायक (पर्सनल डिजिटल असिस्टेंट ) जैसे Wireless HandHeld Device के माध्यम से माल और सेवाओं की खरीद और बिक्री की जाती है। वास्तव में आपकी जेब में एक रिटेल स्टोर जैसा है। वर्तमान में मोबाइल फोन होने के कारण बहुत सारी कंपनियां अपना APP बना देती है ताकि ऐसे भी उनको फायदा हो।

ग्राहकों को ई कॉमर्स से मिलने वाले लाभ निम्नलिखित है - 
सुविधा - उपभोक्ता को खरीदारी करने के लिए 24 घंटे सुविधाएं देती है। ऑनलाइन शॉपिंग से आपका समय बचता है। एक किसी सामान की खरीदारी करने में केवल कुछ ही मिनट का समय लगता है। उपयोगकर्ता को सामान की डिलीवरी लगभग 1 सप्ताह के भीतर मिल जाती है।

उत्पाद की श्रंखला - एक दुकान में एक विक्रेता केवल सीमित उत्पादों को ही रख सकता है। परंतु ई-कॉमर्स में ऐसा नहीं है यहां पर बहुत सारा सामान आपको मिलता है।

पैसे की बचत - उपयोगकर्ता यहां अपना पैसा भी बचा सकता है। ग्राहक भी अलग अलग ई-कॉमर्स वेबसाइट पर जाकर किसी सामान की कीमत की तुलना कर सकता है। और जहां पर उसे कम कीमत में सम्मान मिलता है वहां से वह ले सकता है। भुगतान के विकल्प ग्राहक e-commerce वेबसाइट पर बहुत सारे माध्यमों से पेमेंट कर सकता है।
जैसे - इंटरनेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, चेक, कैश ऑन डिलीवरी इत्यादि।

सामान लौटना - भारत में अधिकांश ई-कॉमर्स कंपनियां अपने उत्पाद को वापस लौटाने की नीतियां अपनाती है। अगर कोई ग्राहक सामान से असंतुष्ट है तो वह सामान वापस भी कर सकता है।

राजस्थान ऑनलाइन स्टोर - डिजिटल इंडिया की पहल और इंटरनेट के व्यापक प्रसार ने लोगों को डिजिटल डिवाइस ने करने में अहम भूमिका निभाई है। इसी के साथ ही ई कॉमर्स ने भारत में शहर ग्रामीण के अंतर को भी कम किया है। राजस्थान सरकार ने ई-बाजार पोर्टल शुरू किया है। जिसके माध्यम से राजस्थान के सभी नागरिक विभिन्न वस्तुओं को ऑनलाइन खरीद सकते हैं।
इस पोर्टल की कुछ मुख्य विशेषताएं -
किसी भी राज्य के नागरिक अपना आर्डर इस वेबसाइट से कर सकते हैं।
आपके ऑर्डर संबंधित जानकारी जिला डाकघर मे उपलब्ध e-mitra में प्रदर्शित होगी।
आप ओटीपी के माध्यम से खरीदारी कर सकते हैं और जब आपका प्रोडक्ट डाक द्वारा आएगा तो आपको डाकिए को OTP बतानी होगी।

ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट :
वर्तमान में लोगों के पास बिल्कुल भी टाइम नहीं है उनको बहुत थोड़ा समय मिलता है इसलिए वे लेनदेन ऑनलाइन करना पसंद करते हैं तो चलिए हम कुछ ऐसे वेबसाइट के बारे में आपको बताते हैं जहां से हम लेनदेन ऑनलाइन और आसानी से कर सकते हैं और यह वेबसाइट काफी लोकप्रिय भी है।





फ्लिपकार्ट (Flipkart.com)- इसके माध्यम से आप मोबाइल फोन, मोबाइल एक्सेसरीज, लैपटॉप, कंप्यूटर, कैमरा, फिल्म, संगीत, टीवी, कपड़े इत्यादि खरीद सकते हो।
इस वेबसाइट पर जाने का लिंक नीचे दिया गया है।
Flipkart.com

अमेजॉन (Amazon.com)- ई-कॉमर्स बाजार में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है और यह भारतीय रूप से कार्य कर रही है। यहां पर भी आप फ्लिपकार्ट की तरह बहुत सारा सामान खरीद और बेच सकते हो।
Amazon.com

स्नैपडील (Snapdeal.com)- स्नैपडील पर सब कुछ उपलब्ध है .स्थानीय दैनिक से लेकर रेस्त्रां और यात्रा से लेकर ऑनलाइन उत्पाद यहां पर आपको मिल जाएंगे।
Snapdeal.com

पेटीएम (Paytm.com)- पेटीएम की शुरुआत मोबाइल रिचार्ज और बिल भुगतान आदि के तौर पर हुई परन्तु वर्तमान में ये वेबसाइट सब कुछ बेच रहा है।
Paytm.com

जबोंग (Jabong.com)- यह एक फैशन एंड लाइफ़स्टाइल स्टोर है। जो अपने सभी उत्पादों पर भारी छूट प्रदान करता है। इस पर भी बहुत सारा सामान आप ऑनलाइन खरीद सकते हो।
Jabong.com

सोशल नेटवर्किंग साइट : यह सामाजिक नेटवर्किंग सेवा या एक ऐसे सामाजिक नेटवर्क या लोगों का मंच है जो आपस में समान रुचि गतिविधियां पृष्ठभूमि या वास्तविक जीवन को साझा करते हैं। इसमें बहुत सारी वेबसाइट है।
जैसे कि -
फेसबुक (Facebook.com)- फेसबुक एक सोशल नेटवर्किंग साइट है। जो आपके परिवार और दोस्तों से आसान तरीके से संपर्क रखने में मदद करता है। यह मूलभूत कॉलेज छात्रों के लिए बनाया गया था। सन 2004 में इसकी स्थापना मार्क जुकरबर्ग द्वारा की गई थी। आज फेसबुक सबसे बड़ी नेटवर्किंग साइट है। जिसके दुनिया भर में एक विलियन उपयोगकर्ता हैं।
फेसबुक के कुछ मुख्य पब्लिक फीचर इस प्रकार हैं-

मार्केटप्लेस - यहां पर आप विज्ञापन पोस्ट कर सकते हैं।
ग्रुप - समान रुचि वाले लोगों को जोड़ कर उनसे संपर्क बना सकते हैं।
इवेंट - इवेंट के लिए लोगों को इनवाइट कर सकते हैं।
पेजेज - सदस्य किसी विशेष टॉपिक पर एक पेज बना सकते हैं।
प्रेजेंस टेक्नोलॉजी - सदस्य यह जान सकते हैं कि कौन से दूसरे सदस्य ऑनलाइन हैं।

टि्वटर (Twitter.com)- ऑनलाइन सोशल नेटवर्किंग सर्विस है। जो यूजर को 140 करैक्टर के छोटे संदेश भेजने में पढ़ने की सुविधा देता है। जिन्हें ट्वीट्स कहा जाता है। ट्विटर मार्च 2006 में बनाया गया था। और इसको जुलाई 2006 में लांच किया गया था।
इसके निर्माता - Jack Dorsey, Evan Williams, Biz Stone, and Noah Glass.

ट्वीट् करते समय आप किसी अन्य व्यक्ति जो टि्वटर का यूज करता है उसे अपने ट्वीट में मेंशन कर सकते हो इसके लिए आपको उसके यूजरनेम के पहले @ सिंबल का उपयोग करना होगा।
जब कोई दूसरा आपके ट्वीट को उसके खुद के फॉलोअर्स को दिखाना चाहता है चाहता हो तो इसे रिट्वीट (RT) कहते हैं।

ई लर्निंग / ऑनलाइन शिक्षा : 
ई लर्निंग का अर्थ है - "इलेक्ट्रॉनिक लर्निंग" जो कि ऑनलाइन माध्यम से होती है।
इसके द्वारा हम इंटरनेट के माध्यम से अपनी पढ़ाई कर सकते हैं।
ई लर्निंग में वीडियो, स्लाइड शो, वर्ड डॉक्युमेंट, पीडीएफ आदि उपलब्ध करवाए जाते हैं।
ई लर्निंग के कारण विद्यार्थियों का समय की बचत होती है और विद्यार्थी नए कौशल हासिल कर पाते हैं।  क्योंकि इन दिनों विद्यार्थी स्मार्टफोन, टेक्स्ट मैसेजिंग और इंटरनेट पर निपुण हो गए हैं, जिससे ऑनलाइन कोर्स में दाखिला लेना काफी आसान हो गया है।

ई लर्निंग के कुछ उदाहरण -

MOOC (Massive Open Online Course) - मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्स 
यह एक ऑनलाइन कोर्स पोर्टल है।
यहां हम भिन्न भिन्न प्रकार के कोर्स कर सकते हैं।
इसकी शुरुआत 2008 में हुई और यह 2012 तक काफी लोकप्रिय हो चुका है।

MOOC पोर्टल्स के प्रमुख उदाहरण नीचे सूचीबद्ध हैं- 

एडक्स (Edx) - यह विश्व भर के छात्रों के लिए अलग-अलग देशों में यूनिवर्सिटी स्तर के कोर्सेज करवाती हैं।  इसमें काफी कोर्स मुफ्त में भी होते हैं।

युडेसिटी (Udacity) - यद्यपि इसकी शुरुआत विश्वविद्यालय आधारित पाठ्यक्रम से हुई थी, लेकिन अब यह पेशेवरों के लिए व्यवसायिक पाठ्यक्रम को भी चलाते हैं।

कोर्सएरा (Coursera) - यह एक लाभकारी शैक्षणिक प्रौद्योगिकी संगठन है।
ऑनलाइन कोर्स चलाने के लिए विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों के साथ मिलकर काम करता है।
इसमें बहुत सारे पाठ्यक्रम ऑनलाइन उपलब्ध करवाए जाते हैं।
जैसे भौतिक, इंजीनियरिंग, मानविकी चिकित्सा, जीव विज्ञान, समाजिक, कंप्यूटर विज्ञान, डिजिटल मार्केटिंग और इसके अलावा और भी बहुत सारे।

खान अकादमी (Khan Academy) - खान अकादमी शैक्षणिक प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए शिक्षकों को अभ्यास और विधियों की सुविधा देता है।
वेबसाइट और इसकी पाठ्य सामग्री मुख्य रूप से अंग्रेजी में है।
लेकिन स्पेनिश, पुर्तगाली, तुर्की, फ्रेंच, बंगाली और हिंदी जैसी अन्य भाषाओं में भी उपलब्ध है।

आजीविका पोर्टल, राजस्थान सरकार (Livelihood Portal, Govt. of Rajasthan) : 
कौशल रोजगार और उद्यमिता विभाग ने नागरिकों को विभिन्न सूचनाएं और सेवाएं प्रदान करने के लिए रोजगार और आजीविका पोर्टल की शुरुआत की है।

विभिन्न वर्गों के लिए नौकरियां और उनकी रोजगार योजनाओं के बारे में यहां से जानकारी आप प्राप्त कर सकते हो।
Website URL - https://www.employment.livelihoods.rajasthan.gov.in

राज-ई-ज्ञान (Raj-E Gyan) : भारत राजस्थान सरकार ने स्कूलों में शिक्षा स्तर को सुधारने के लिए और डिजिटल इंडिया की अवधारणा को वास्तविकता में बदलने के लिए इस शैक्षणिक पोर्टल राजस्थान ई ज्ञान की शुरुआत की है।
इस पोर्टल पर स्कूल और शिक्षक भी उनके द्वारा तैयार की गई सामग्री को अपलोड कर सकते हैं।
यहां पर आपको सभी कक्षा के छात्रों के सभी विषय के डिजिटल पाठ्यक्रम मिल जाएंगे।
राज ई ज्ञान पोर्टल दो भाषाओं हिंदी और अंग्रेजी में उपलब्ध है।
Website URL - https://www.egyan.rajasthan.gov.in

उच्च और तकनीकी शिक्षा पोर्टल, राजस्थान सरकार (Higher & Technical Education ) Portal, Govt. of Rajasthan :

उच्च और तकनीकी शिक्षा पोर्टल निम्न विभागों से सूचना और सेवाओं को जोड़ती है।
उच्च शिक्षा अंतर्गत डीसीआई (DCE) (कॉलेज शिक्षा विभाग)
तकनीकी शिक्षा अंतर्गत डीटीआई (DTE) (तकनीकी शिक्षा निदेशालय)

यह पोर्टल मूल रूप से नागरिकों को राज्य के विश्वविद्यालयों और तकनीकी शिक्षा पाठ्यक्रम के अंतर्गत विभिन्न उच्च शिक्षा पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन करने में मदद करता है।
इसके साथ छात्रों को विभिन्न प्रकार की सरकारी छात्रवृत्ति के आवेदन भी प्रदान किए जाते हैं।
Website URL - https://www.hte.rajasthan.gov.in

आईआईटी द्वारा मुफ्त पाठ्यक्रम (Free Courses By IITs) :
National Programmer on Technology Enhanced Learning (NPTEL), मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) द्वारा आयोजित एक प्रोजेक्ट है।
जिसके तहत इंजीनियरिंग, विज्ञान, प्रौद्योगिकी, प्रबंधन और मानविकी में ऑनलाइन वेब और वीडियो पाठ्यक्रम के माध्यम से ई लर्निंग की जा सकती है।
यह साथ आईआईटी और आईआईएससी बैंगलोर द्वारा की गई एक संयुक्त पहल है।
Website URL - https://nptel.ac.in





स्वयं पोर्टल (Swayam Portal) : यह प्लेटफार्म मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) द्वारा स्कूल, अंडर-ग्रैजुएट, स्नातकोत्तर, इंजीनियरिंग, कानून और अन्य व्यवसायिक कोर्स को कवर करने के लिए विकसित किया गया है।
Website URL - https://swayam.gov.in

ओपन रिसोर्स / क्लाउड बेस्ड स्टोरेज (Open Resource / Cloud Based Storage) : यह हमें ऑनलाइन डाटा स्टोर करने के लिए स्टोरेज प्रदान करता है।
इंटरनेट के माध्यम से हम इसे कहीं पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

गूगल ड्राइव और वनड्राइव (Google Drive and One Drive) :
गूगल ड्राइव (Google Drive) - गूगल ड्राइव में क्लाउड स्टोरेज के साथ ऑफिस टूल का पूरा सेट जुड़ा होता है। आप एक वर्ड प्रोसेसर, स्प्रेडशीट एप्लीकेशन और प्रेजेंटेशन बिल्डर सहित इस सेवा के साथ सब कुछ प्राप्त कर सकते हैं। यदि आपके पास पहले से गूगल खाता है, तो आप आसानी से गूगल ड्राइव तक पहुंच सकते हैं।
Website URL - https://drive.google.com


माइक्रोसॉफ्ट वनड्राइव (Microsoft One Drive) - यह भी ऑनलाइन डाटा स्टोर करने के लिए एक स्टोरेज है। जो कि माइक्रोसॉफ्ट द्वारा प्रदान किया गया है। इसका उपयोग विंडो 8 और विंडो 10 में आप देख सकते हो।

राज-ई-वॉलेट (Raj eVault) : राज ई वॉलेट को डिजिटल दस्तावेज प्रबंधक भी कहा जाता है।
यहां पर आप अपने डाक्यूमेंट्स सुरक्षित रख सकते हो।
यह आपके द्वारा अपलोड किए गए सभी प्रमाण पत्रों को डिजिटल सत्यापन भी करता है, अर्थात आप के डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करता है। ताकि वह ऑनलाइन भी इस्तेमाल किए जा सकें।
Website URL - https://evault.rajasthan.gov.in

जॉब सर्च और रजिस्ट्रेशन (Job Search and Registration) :
नौकरी प्राप्त करने के लिए या फिर नौकरी ढूंढने के लिए यह वेबसाइट आपकी काफी मदद कर सकती हैं।
जैसे आजीविका पोर्टल, राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई है।
इसके अलावा और भी बहुत सारी वेबसाइट है। जहां से आप रोजगार की जानकारी ले सकते हो।

नौकरी खोजने के लिए सरकारी, अर्थात आप कुछ सरकार के द्वारा बनाई गई वेबसाइट और कुछ निजी वेबसाइट का उपयोग कर सकते हो।

नौकरी ढूंढने के लिए कुछ निजी वेबसाइट -
Naukri.com (इसे 1997 में शुरू किया गया था)
Monster.com  
Timesjobs.com

नेशनल करियर सर्विसेज (National Career Services - NCS) :
नेशनल करियर सर्विसेज (NCS) या राष्ट्रीय करियर सेवा प्रोजेक्ट श्रम और रोजगार मंत्रालय भारत सरकार की एक पहल है। जिसका उद्देश्य त्वरित और कुशल कैरियर संबंधी सेवाएं प्रदान करना है।
Website URL - https://www.ncs.gov.in

राजस्थान अधीनस्थ और मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड (Rajasthan Subordinate and Ministerial Service Selection Board - RSMSSB) :
बोर्ड के संबंधित भर्ती नियमों के अनुसार लिखित परीक्षाएं, व्यवसायिक परीक्षाएं और व्यक्तिगत साक्षात्कार आयोजित करके समर्थ, सक्षम, उच्च कुशलता युक्त व्यक्तियों को भर्ती करने के उद्देश्य से यह वेबसाइट बनाई गई है। यहां पर पिछले परीक्षा प्रश्न पत्र भी मौजूद होते हैं।
Website URL - https://www.rsmssb.rajasthan.gov.in

डिजिटल हस्ताक्षर (Digital signature) : जिस प्रकार हमारे दस्तावेज इलेक्ट्रॉनिक यानी कि डिजिटल होते जा रहे हैं वैसे ही हमारे हस्ताक्षर भी डिजिटल हो चुके हैं। इलेक्ट्रॉनिक सिगनेचर को डिजिटल हस्ताक्षर के नाम से जाना जाता है।
एक डिजिटल सिग्नेचर के द्वारा डिजिटल दस्तावेजों को प्रमाणित करके स्वीकृति प्रदान की जा सकती है।

डिजिटल हस्ताक्षर से यह प्रमाणित होता है कि, हमारा दस्तावेज मान्य है।
डिजिटल हस्ताक्षर पीडीएफ डॉक्युमेंट्स, ईमेल संदेश ,वर्ड प्रोसेसिंग डॉक्यूमेंट के साथ इस्तेमाल किया जाता है। इसका इस्तेमाल ज्यादातर उस क्षेत्र में ज्यादा होता है, जहां पर धोखाधड़ी होती है तो धोखाधड़ी से बचने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।
किसी दस्तावेज पर डिजिटल हस्ताक्षर करने के लिए आपके पास डिजिटल यूनिक आईडी होनी चाहिए। यह यूनिक आईडी विभिन्न प्रमाणन संस्था जैसे कि VeriSign और EchoSign से प्राप्त किया जा सकता है।

राज ई-साइन (Raj e-Sign) : राजस्थान सरकार ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 के तहत राज ई-साइन को वैध डिजिटल हस्ताक्षर के रूप में अधिकृत किया है। राज ई-साइन एक ऑनलाइन इलेक्ट्रॉनिक हस्ताक्षर सेवा है, जिसे सभी सरकारी एप्लीकेशन के साथ एकीकृत किया जा रहा है। ताकि सभी आधार धारक नागरिकों को दस्तावेजों को डिजिटल हस्ताक्षर करने की सुविधा मिल सके।



हमने आपके लिए अध्याय 6 के सभी नोटस की वीडियो बनाई है आप चाहे तो इन वीडियो को भी देख सकते हैं।
Part-1

Part- 2


आपको ये - RSCIT Book Lesson- 6. (Internet Application "इंटरनेट के अनुप्रयोग") Notes In Hindi 2019. कैसा लगा। अगर आप RSCIT Book के Other Lessons के Notes पढ़ना चाहते हैं तो, हम RSCIT Book के सभी Lessons के नोट्स आपको प्रदान करेंगे। हम आशा करते हैं की आप इस नोट्स को अपने RSCIT Friends के साथ जरूर शेयर करेंगे।

LearnRSCIT.com RSCIT Students के लिए हैं। यहाँ वो सब आपको मिलेगा। जिसके कारण आप आपने RSCIT Exam में अच्छे नंबर ला सकेंगे।

Thank u So Much, Have a Nice Day.

Rscit Book Lesson | Rscit Book Lesson Notes | Rscit Book Lesson Notes Number 6 | Rscit Book Lesson Notes Number 6 In Hindi | Notes Of Rscit Book In Hindi | Rkcl New Book Notes In Hindi Lesson 6 | Rscit New Book Notes In Hindi Lesson | Notes Of Rscit Book Lesson 6 | Download Rscit Notes | Rscit Book Notes In Hindi Pdf | Lesson -6 | Part- 1 And 2.